Castles in the air - they are so easy to take refuge in. And so easy to build, too.

आम्हां घरी धन शब्दांचीच रत्नें | शब्दांचीच शस्त्रें यत्न करुं ||
शब्द चि आमुच्या जीवांचे जीवन | शब्दें वांटूं धन जनलोकां ||
तुका म्हणे पाहा शब्द चि हा देव | शब्द चि गौरव पूजा करुं ||
- abhang of Tukaram Wolhoba Ambile of Dehu

There's No Freedom Like That of a Child's Imagination

கடலுக்கு உண்டு கற்பனைக்கு இல்லை கட்டுப்பாடு

Saturday, April 26, 2008

रेगिस्तान - एक गुफ़्तगू

हज़ारों की गिनती तो हमें आती नहीं
पर ख़याल कुछ ऐसा है
कि रेत का हर ज़र्रा अगर मोती बन जाए,
तो तोहफ़े में हम आपको 'रेगिस्तान' दे दें!
- मुश्ताक़

तुम्हारी मोतियों के रेगिस्तान
का हम क्या करेंगे?
जी लेंगे हम
अगर आप हमारे नाम
एक आंसू मॊहब्बत का बहा देंगे!
- रामेश

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home